यक्ष / यक्षानी

१) चक्रेश्वरी माता ( Chakreshware Devi )

२) अम्बिका माता ( Ambika Devi )

३) पद्मावती माता ( Padmavati Devi )

४) सरस्वती माता ( Saraswati Devi )

५) लक्ष्मी माता ( Lakshmi Devi )



१) श्री मणिभद्र वीर जी  (Shri Manibhadra Veer Ji)

२) श्री घंटाकर्ण महावीर जी  (Shri Ghantakarna Mahaveer Ji)

३) 
श्री नाकोडा भैरवजी  - click for Nakoda Bheruji Aarti


४) श्री भोमियां जी महाराजा (Shri Bhomiyan Ji Maharaja)

तिथि किसे कहेते है।

जीव अकेला आता है और अकेले जाता है उसे * एकम * कहेते हैं। जीव दो प्रकार का धर्म का पालन करता है उसे * बीज * कहेते हैं। जीव देव-गुरु-धर्म कि...